content-cover-image

MODI का सफाई अभियान

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

MODI का सफाई अभियान

अगर आप मुंबई में रेलवे पटरी के किनारे और झुग्गी-झोपड़ी वाले इलाकों पर नजर दौड़ाएंगे तो आपको वो दृश्य देखने को मिलेगा जो मुख्यमंत्री के दावे के बाद देखने को नहीं मिलने चाहिए थे। इतना ही नहीं, मुंबई के ट्रांबे इलाके के चीता कैंप (प्रभाग क्रं143) में महापालिका प्रशासन ने दो सार्वजनिक शौचालय को तुड़वा दिया है और अब उस जगह पर व्यायामशाला बनाया जा रहा है। ये शौचालय सांसद निधि से तैयार कराए गए थे। शौचालय तोड़ देने के बाद स्थानीय लोग शौच के लिए कहां जाएंगे इसकी तो कल्पना की जा सकती है। आरटीआई कार्यकर्ता शकील शेख के प्रयास और स्थानीय लोगों के आंदोलन के बाद व्यायामशाला का महापालिका निधि से निर्माण अस्थायी तौर पर रोक तो दिया गया। मगर लोग खुले में शौच जाने के लिए मजबूर हैं। अब ऐसे में मुख्यमंत्री के दावे का क्या कहा जाए? बता दे की इसमें सार्वजनिक और सामूहिक तौर पर 2, 81,292 शौचालय बनाए गए। इसके लिए मुख्यमंत्री ने अपनी पीठ थपथपाई है। लेकिन मुख्यमंत्री के साथ सरकारी महकमा ने इस पर ध्यान नहीं दिया कि 2012 के बाद जो आबादी बढ़ी, उसके लिए कितने शौचालय की कमी है और उसे कैसे बनाना है।

Show more
content-cover-image
MODI का सफाई अभियान मुख्य खबरें