content-cover-image

Aseemanand की रिहाई पर PAK ने जताया एतराज

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Aseemanand की रिहाई पर PAK ने जताया एतराज

पाकिस्तान ने भारत की निष्पक्ष न्यायिक व्यवस्था पर सवाल उठाने की कोशिश की। समझौता एक्सप्रेस विस्फोट मामले में सभी चारों आरोपियों को बरी किए जाने पर PAK ने भारतीय उच्चायुक्त को बुलाकर विरोध दर्ज कराया है। 2007 में हुए इस विस्फोट में लगभग 68 लोगों की मौत हुई थी, जिसमें ज्यादातर पाकिस्तानी थे। हरियाणा के पंचकुला स्थित विशेष एनआइए अदालत ने बुधवार को स्वामी असीमा नंद और अन्य तीन आरोपियों को बरी कर दिया है। विशेष जज जगदीप सिंह ने पाकिस्तान की एक महिला द्वारा दायर याचिका को खारिज कर दिया| इसके बाद यह फैसला आया है। महिला ने कहा था कि इस मामले के चश्मदीदों की गवाही पाकिस्तान से ही हो। पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने एक बयान जारी कर बताया कि कार्यवाहक विदेश सचिव ने भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया को बुलाकर विरोध दर्ज कराया है।

Show more

content-cover-image
Aseemanand की रिहाई पर PAK ने जताया एतराजमुख्य खबरें