content-cover-image

Breaking: चुनाव अधिकारियों को नोटिस

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Breaking: चुनाव अधिकारियों को नोटिस

राफेल डील पर लिखी गई किताब को जब्त करने और रिलीज पर बैन लगाने के मामले में चुनाव आयोग ने अपने अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की है. चुनाव आयोग ने अपने फ्लाइंग स्क्वाड के अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है. साथ ही इनको चुनाव ड्यूटी से हटा दिया है. 'राफेलः द स्कैम दैट रॉक्ड द नेशन' शीर्षक से लिखी गई यह किताब तमिल भाषा में है. बता दे की मंगलवार को असिस्टेंट एक्जीक्यूटिव इंजीनियर एस गणेश, पुलिस अधीक्षक और दो पुलिस कांस्टेबल ने राफेल डील पर लिखी गई किताब 'राफेलः the scam date the nation के भारती पुथकलम स्थित पब्लिशिंग हाउस पर रेड की थी. इस दौरान किताब को ज़ब्त कर लिया गया था और इसकी रिलीज पर बैन लगा दिया गया था. इसके बाद सोशल मीडिया और मीडिया में यह मामला सुर्खियों में आ गया था. चुनाव आयोग ने डिस्ट्रिक्ट इलेक्शन ऑफिसर से मामले की जांच करने और जल्द से जल्द रिपोर्ट देने को कहा था. इसके बाद अधिकारियों ने किताब की रिलीज पर लगाए गए बैन को हटा दिया और जब्त की गई किताब की प्रतियों को वापस कर दिया. फिर मंगलवार शाम को यह किताब रिलीज हो गई. वहीं, इस मामले में तमिलनाडु के मुख्य चुनाव अधिकारी (CEO) ने बयान जारी कर सफाई दी. उन्होंने कहा कि इस किताब के रिलीज को रोकने के लिए न तो भारत के मुख्य चुनाव आयुक्त के कार्यालय और न ही मुख्य चुनाव अधिकारी के कार्यालय से कोई निर्देश जारी किए गए. उन्होंने कहा, 'मैंने चेन्नई के डिस्ट्रिक्ट इलेक्टोरल ऑफिसर को मामले की जांच करने और जल्द से जल्द रिपोर्ट देने का निर्देश दिया था.'

Show more
content-cover-image
Breaking: चुनाव अधिकारियों को नोटिसमुख्य खबरें