content-cover-image

Rahul Gandhi की गवाह बनीं नर्स

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Rahul Gandhi की गवाह बनीं नर्स

राहुल गांधी के जन्म की गवाह रहीं सेवानिवृत्त नर्स और वायनाड से मतदाता राजम्मा वावथिल जोर देकर कहती हैं कि किसी को भी कांग्रेस प्रमुख की नागरिकता पर सवाल नहीं उठाना चाहिए। उन्होंने कहा कि वह उन लोगों में से एक थीं जो दिल्ली के होली फैमिली अस्पताल में 19 जून 1970 को राहुल के जन्म के दौरान ड्यूटी पर थे। 72 वर्षीय राजम्मा उस वक्त बतौर नर्स प्रशिक्षण ले रही थीं। उन्होंने कहा कि वह उन लोगों में शुमार थीं जिन्होंने नन्हे राहुल को पहली बार अपने हाथों में उठाया था। वायनाड से वावथिल ने पीटीआई को फोन पर बताया, ‘मैं खुशनसीब थी क्योंकि नवजात राहुल को अपनी गोद में उठाने वाले लोगों में मैं पहली थी। मैं उनके जन्म की गवाह रही हूं। मैं बेहद उत्साहित थी... इंदिरा गांधी के पोते को देखकर हम सभी बहुत उत्साहित थे।’

Show more
content-cover-image
Rahul Gandhi की गवाह बनीं नर्समुख्य खबरें