content-cover-image

INS Viraat विवाद : Rajeev Gandhi पर PM Modi के आरोप, जानिये पूरा मामला

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

INS Viraat विवाद : Rajeev Gandhi पर PM Modi के आरोप, जानिये पूरा मामला

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पूर्व पीएम राजीव गांधी द्वारा INS विराट का 'अपनी टैक्सी' के रूप में इस्तेमाल करने वाले बयान पर सियासी बवाल मचा हुआ है। इस बीच, पूर्व नेवी चीफ ने आगे आकर पीएम मोदी के आरोप को सिरे से खारिज कर दिया है। पूर्व चीफ ऑफ नेवल स्टाफ ऐडमिरल एल. रामदास ने बाकायदा बयान जारी कर बिंदुवार तरीके से उस दौरे का जिक्र किया है, जिसके बारे में परिवार के साथ पूर्व पीएम के छुट्टियां मनाने की बात की जा रही है। उन्होंने साफ कहा है कि पीएम और उनकी पत्नी के साथ उस आधिकारिक दौरे पर कोई भी विदेशी नहीं था। खास बात यह है कि बयान INS विराट से जुड़े नौसेना के कई अन्य वरिष्ठ अफसरों के इनपुट के आधार पर जारी किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल यानी बुधवार को दिल्ली के रामलीला मैदान पर एक भाषण दिया, जिसमें उन्होंने कहा कि दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने लक्षद्वीप आइलैंड्स पर भारतीय नौसेना के जहाज विराट का इस्तेमाल 10 दिनों तक अपने पर्सनल क्रूज के तौर पर किया था और राजीव के साथ उनके परिवार और पत्नी सोनिया गांधी के परिवार के लोग मौजूद थे। ऐडमिरल रामदास ने बिंदुवार तरीके से स्पष्ट करते हुए कहा कि वास्तव में मामला यह नहीं था। 32 साल पहले जो कुछ हुआ था, उसका क्रम इस प्रकार है और वह उस समय मौजूद थे। ऐडमिरल ने बताया कि वह वाइस ऐडमिरल पसरीचा- तत्कालीन कैप्टन और कमांडिंग ऑफिसर INS विराट, ऐडमिरल अरुण प्रकाश- कमांडिंग INS विंध्यगिरी, जो INS विराट के साथ चल रहा था और वाइस ऐडमिरल मदनजीत सिंह- INS गंगा के कमांडिंग ऑफिसर की लिखित प्रतिक्रियाओं के आधार पर यह जानकारी दे रहे हैं। उन्होंने उस समय लक्षद्वीप आइलैंड्स के नेवल ऑफिसर इन चार्ज के नोट से भी इनपुट लिया है। ऐडमिरल ने यह भी कहा कि जरूरत पड़ने पर ये बयान उपलब्ध हैं। ऐडमिरल के अनुसार, प्रधानमंत्री और मिसेज गांधी त्रिवेंद्रम से लक्षद्वीप जाने के लिए INS विराट पर सवार हुए थे। प्रधानमंत्री त्रिवेंद्रम में नैशनल गेम्स प्राइज डिस्ट्रिब्यूशन के लिए चीफ गेस्ट थे। वह ऑफिशल ड्यूटी पर लक्षद्वीप जा रहे थे और वहां उन्हें IDA मतलब आइलैंड्स डिवेलपमेंट अथॉरिटी की बैठक की अध्यक्षता करनी थी। यह बैठक लक्षद्वीप और अंडमान में बारी-बारी से होती है। पूर्व नेवी चीफ रामदास ने कई ऐसी बातों का विस्तार से ज़िक्र किया है जिससे से साफ़ होता है की PM द्वारा लगाये गए आरोप सही नहीं हैं. ऐडमिरल ने कहा है कि उनके द्वारा यह बयान सहकर्मियों- ऐडमिरल अरुण प्रकाश, वाइस ऐडमिरल विनोद पसरीचा और वाइस ऐडमिरल मदनजीत सिंह की ईमेल प्रतिक्रियाओं को शामिल करने के बाद जारी किया गया है। दिल्ली के रामलीला मैदान में बुधवार को एक जनसभा के दौरान पीएम नरेंद्र मोद ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर एक और सनसनीखेज आरोप लगाया था. पीएम मोदी का आरोप था कि राजीव गांधी ने प्रधानमंत्री रहते हुए विमानवाहक पोत INS विराट का इस्तेमाल एक द्वीप पर परिवार के साथ छुट्टी मनाने के लिए किया था. पीएम मोदी ने दावा किया था कि इसमें इटली से आए उनके रिश्तेदार भी शामिल हुए थे और INS विराट का इस्तेमाल टैक्सी की तरह किया गया था. पीएम मोदी के इस बयान को पूर्व ऐडमिरल एल रामदास ने जुमला बताया. इसी क्रम में अब एक अन्य पूर्व नेवी officer Prafulla Kumar Patra ने अपने सोशल मीडिया हैंडल पर post लिख इस विवाद को एक और मोड़ दे दिया है, patra के अनुसार , वो उस वक़्त INS Viraat में serve करने वाले crew members में से एक हैं और इस पूरे घटनाकर्म के गवाह हैं. उनके अनुसार , मोदी के आरोप बिलकुल सही हैं. कल पीएम मोदी ने पूर्व पीएम राजीव गांधी पर आरोप लगाया था कि उन्होंने युद्धपोत आईएनएस विराट पर छुट्टियां मनाई थी. आज इसको लेकर जुबानी जंग तेज हुई..लेकिन सच क्या है... इसको लेकर स्थिति साफ नहीं हो पा रही है. दो चरणों का चुनाव बाकी है और जिस तरीके से जुबानी जंग चल रही है उससे तो यही लग रहा है कि अब चुनाव में मुद्दा राजीव गांधी ही बन गये हैं.

Show more
content-cover-image
INS Viraat विवाद : Rajeev Gandhi पर PM Modi के आरोप, जानिये पूरा मामला मुख्य खबरें