content-cover-image

गाजीपुर में होगा विकास और जातिवाद का टेस्ट

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

गाजीपुर में होगा विकास और जातिवाद का टेस्ट

सातवें चरण के चुनाव मतदान में केवल छह दिन और चुनाव प्रचार के लिए चार दिन शेष बचे हैं। केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा अपनी सीट बचाने के लिए आखिरी दम लगा रहे हैं। शायद ही गाजीपुर संसदीय क्षेत्र का कोई हिस्सा हो जहां चुनाव की घोषणा होने के बाद से मनोज सिन्हा कई चक्कर न लगा चुके हों, लेकिन जातिवाद की हवा ने उनके संसदीय क्षेत्र को विकास की राजनीतिक प्रयोशााला बना दिया है। विरोधी भी मानते हैं मनोज सिन्हा ने सांसद रहते हुए बहुत काम कराया है। सपा नेता ओम प्रकाश सिंह के परिवार के लोगों को भी सुहेलदेव एक्सप्रेस समेत तमाम रेलगाड़ियां चल पाने की पहले उम्मीद नहीं थी। सब मानते हैं मनोज सिन्हा ने किया बहुत है, लेकिन लड़ाई भी मुश्किल है। अखिलेश राय कहना है कि समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव के गाजीपुर में कदम रखते ही सिन्हा की मुसीबत बढ़ जाएगी। अष्टभुजा उपाध्याय का कहना है कि मनोज सिन्हा को ब्राह्मण, भूमिहार, गैर जाटव, गैर यादव, गैर अल्पसंख्य का वोट मिल रहा है। क्योंकि उन्होंने काम किया है। अष्टभुजा का कहना है कि आजादी के बाद इतने कम समय में मनोज सिन्हा विकास की सबसे बड़ी गंगा बहाई है।

Show more
content-cover-image
गाजीपुर में होगा विकास और जातिवाद का टेस्टमुख्य खबरें