content-cover-image

जंग में सेना को घटिया गोला और बारूद से मुश्किल

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

जंग में सेना को घटिया गोला और बारूद से मुश्किल

जंग के मैदान में भारतीय सैनिकों की कोई सानी नहीं है। मुश्किल से मुश्किल हालात भी इनका हौसाला कम नहीं होता। उनके शौर्य और पराक्रम के आगे दुश्मन घुटने टेकते हैं। दुनियाभर की आर्मी भारतीय सैनिक आदर्श हैं। लेकिन जब इन्हीं सैनिकों को लड़ने के लिए घटिया गोला और बारूद मुहैया कराई जाते है तो फिर क्या कहा जा सकता है। जी हां ये सच है। दरअसल भारतीय सेना ने घटिया गोला-बारूद और युद्ध उपकरणों से फील्ड में बढ़ती दुर्घटनाओं पर चिंता जताई है। ये गोला-बारूद सरकार के ऑनरशिप वाले ऑर्डनेंस फैक्ट्री बोर्ड से टैंक, तोपों, एयर डिफेंस गन और दूसरे युद्ध उपकरण के लिए सप्लाई किया जाता है। इस बारे में सेना ने रक्षा मंत्रालय से बात की है। जानकारी के मुताबिक सेना ने बताया है कि घटिया क्वॉलिटी के गोला-बारूद के कारण होने वाली दुर्घटनाओं में सैनिकों की जानें जा रही हैं, सैनिक घायल हो रहे हैं और इससे रक्षा उपकरणों को भी नुकसान पहुंच रहा है। सेना ने रक्षा सचिव (उत्पादन) अजय कुमार के सामने ऑर्डिनेंस फैक्ट्री द्वारा गोला-बारूद की गुणवत्ता पर अपेक्षित ध्यान न दिए जाने को लेकर इस मामले पर गंभीर चिंता व्यक्त की। ओएफबी की देशभर में 41 फैक्ट्री हैं और उसका सालाना टर्नओवर लगभग 19,000 करोड़ रुपये का है। जो 12 लाख मजबूत सेना को हथियार और गोला बारूद सप्लाई करने का मुख्य स्रोत है।

Show more
content-cover-image
जंग में सेना को घटिया गोला और बारूद से मुश्किलमुख्य खबरें