content-cover-image

यहाँ के स्कूलों में पढ़ाई जाएगी Abhi की वीरगाथा

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

यहाँ के स्कूलों में पढ़ाई जाएगी Abhi की वीरगाथा

विंग कमांडर अभिंनंदन पर भले ही कितनी राजनीति हुई हो या सरकार ने वायु सेना के इस साहसी कदम का पूरा श्रेय अपने नाम ही क्यों न करना चाहा हो, लेकिन इन सबके बीच राजस्थान सरकार ने सभी बातों से ऊपर उठ कर विंग कमांडर अभिनंदन की शौर्य गाथा को अपने स्कूलों में पढ़ाने का फैसला किया है. अभिनंदन की वापसी के साथ ही राजस्थान के शिक्षा मंत्री ने इस बात की घोषणा की थी और इस साल इसे पाठ्यक्रम में शामिल कर लिया गया है इसके साथ ही पुलवामा हमला और बालाकोट एयर स्ट्राइक का जिक्र भी स्कूली पाठ्यक्रम का हिस्सा बन गया है. हालांकि इसमें यह कहीं नहीं लिखा गया है कि बालाकोट एयर स्ट्राइक में कितने आतंकी मारे गए और इसमें केंद्र सरकार का क्या योगदान था .जिस तरह से बीजेपी दावा करती है कि मोदी सरकार की वजह से ही सब कुछ हो पाया, इस तरह की किसी भी बात को किताब में जगह नहीं दी गई है .यह ख्याल रखा गया है कि पूरी तरह से इसे सेना के शौर्य की कहानी बताई जाए . अभिनंदन को किताब में शामिल करने के लिए राजस्थान से रिश्ता भी ढूंढ लिया गया है .उसमें लिखा है कि उनकी प्रारंभिक पढ़ाई लिखाई जोधपुर में हुई थी क्योंकि उनके पिता यहीं पर एयरफोर्स में नौकरी करते थे .ओलंपिक पदक जीते राज्यवर्धन सिंह राठौर के बारे में भी उनकी उपलब्धियों को लिखा गया है. इसी चैप्टर में मृगेंद्र प्रताप की भी कहानी है. इन्होंने अपने पराक्रम की वजह से करगिल के युद्ध में दुश्मनों के छक्के छुड़ा दिए थे और उन्हें महावीर चक्र से नवाजा गया है.

Show more
content-cover-image
यहाँ के स्कूलों में पढ़ाई जाएगी Abhi की वीरगाथामुख्य खबरें