content-cover-image

Special: PM का शपथ ग्रहण समारोह, ये होंगी खासियतें

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Special: PM का शपथ ग्रहण समारोह, ये होंगी खासियतें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार शाम सात बजे शपथ ग्रहण करेंगे। उनके साथ कई और नेता भी शपथ लेंगे। समारोह में कई देशों के नेता जुटेंगे। समारोह में सोनिया गांधी, राहुल गांधी सहित कई राज्यों के मुख्यमंत्री भी शामिल होंगे। हालांकि, ममता बनर्जी ने इसमें शामिल होने से इनकार किया है। गुरुवार को राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में लगभग 8,000 मेहमान शामिल होंगे, जिससे यह ऐतिहासिक परिसर में आयोजित सबसे बड़ा आयोजन होगा। जबकि समारोह में भाग लेने वाले मेहमानों को उच्च चाय का इंतजाम किया जाएगा, राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद बिम्स्टेक देशों के नेताओं के साथ एक निजी रात्रिभोज की मेजबानी करेंगे। किर्गिजस्तान के राष्ट्रपति सूरोनबे जीनबेकोव और मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रवीण कुमार जुगनुथ ने अपनी उपस्थिति की पुष्टि की है। शपथ ग्रहण 2014 की तरह ही राष्ट्रपति भवन के फोरकोर्ट में आयोजित किया जाएगा। इस कार्यक्रम में तब लगभग 5,000 मेहमानों ने भाग लिया था। चाय कार्यक्रम में स्नैक्स होंगे, जिसमें मिठाई के अलावा समोसा, और पनीर की चीजें शामिल होंगी, जबकि राष्ट्रपति के रात्रिभोज में, आने वाले विदेशी गणमान्य व्यक्तियों को "दाल रायसीना" का इंतजाम किया जाएगा। कुछ अधिकारियों के साथ प्रधानमंत्री मोदी भी रात्रिभोज में शामिल होंगे। शपथग्रहण कार्यक्रम शाम 7 बजे के लिए तय किया गया है। शपथ ग्रहण समारोह करीब डेढ़ घंटे का होगा और इसके बाद ‘बिमस्टेक’ देशों के नेताओं के अलावा उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू और प्रधानमंत्री सहित लगभग 40 गणमान्य लोगों को रात्रि भोज दिया जाएगा। यह पहली बार है जब 8,000 अतिथि शपथ ग्रहण समारोह में शरीक होंगे, जो बृहस्पतिवार शाम सात बजे से रात साढ़े आठ बजे तक चलेगा। राष्ट्रपति भवन में आयोजित होने वाला यह सबसे बड़ा कार्यक्रम होगा। अब से पहले, इस तरह के समारोहों में 4,500-5,000 अतिथि शरीक हुए थे। शपथ ग्रहण समारोह में शरीक होने वाले अतिथियों के लिए पनीर टिक्का जैसे हल्के जलपान की व्यवस्था होगी। रात्रिभोज में ‘दाल रायसीना’ जैसा व्यंजन परोसा जाएगा। दाल रायसीना बनाने में इस्तेमाल की जानी वाली मुख्य चीजें लखनऊ से मंगाई गई हैं। इसे करीब 48 घंटे तक पकाया जाता है। रात के खाने में शाकाहारी और मांसाहारी दोनों विकल्प होंगे और इसमें सूप, मछली, चिकन, सब्जियां और "दाल रायसीना" शामिल होंगे - लोकप्रिय 'मा की दाल' भी मेन्यू में शामिल किया गया है। इस कार्यक्रम में भाग लेने वाले बिमस्टेक नेताओं में बांग्लादेशी राष्ट्रपति अब्दुल हमीद, श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरिसेन, म्यांमार के राष्ट्रपति यू विन म्यिंट, नेपाली प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली और भूटानी प्रधानमंत्री लोटे टीचिंग शामिल होंगे। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को लगातार दूसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मैराथन बैठक की है। चूंकि मोदी खुद यह बात कह चुके हैं कि एनडीए के सांसद कैबिनेट के गठन को लेकर मीडिया में दिखाई जा रही खबरों पर ध्यान न दें। मीडिया में पिछले कई दिनों से मोदी मंत्रिमंडल को लेकर खबरें चल रही हैं। भाजपा के एक बड़े नेता जो कि आरएसएस के करीबी माने जाते हैं, उनका कहना है कि इस बार मोदी कैबिनेट में बहुत कुछ नया होगा। चर्चा है कि मोदी की नई कैबिनेट में आधे से ज्यादा नए चेहरे देखने को मिलेंगे। सहयोगी दलों को उनकी मांग के अनुरूप नहीं, बल्कि मोदी की इच्छा से मंत्री पद मिलेगा। जेडीयू और शिवसेना, दोनों को चार मंत्री पद मिलने की संभावना है।

Show more
content-cover-image
Special: PM का शपथ ग्रहण समारोह, ये होंगी खासियतेंमुख्य खबरें