content-cover-image

मोदी सरकार 2.0 : दक्षिण राज्यों से क्यूँ नहीं है एक भी मंत्री ?

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

मोदी सरकार 2.0 : दक्षिण राज्यों से क्यूँ नहीं है एक भी मंत्री ?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंत्रिपरिषद के गठन में क्षेत्रीय समीकरणों का पूरा ध्यान रखते हुए दिल्ली में दूसरी पारी की शुरुआत कर दी है, लेकिन दक्षिण भारत में, खासतौर पर तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में यह धारणा आकार ले रही है कि उनके क्षेत्रों को मंत्रिमंडल में पर्याप्त जगह नहीं मिली है। निर्मला सीतारमण कर्नाटक से राज्यसभा सांसद हैं, उन्हें वित्त मंत्रालय दिया गया है। उनके अलावा कर्नाटक से तीन सांसदों को केंद्रीय मंत्रिपरिषद में जगह दी गई है। इसके अलावा केरल और तेलंगाना से भी एक-एक सांसदों को मंत्रिपरिषद में शामिल किया गया है। हालांकि, तमिलनाडु के खाते में मोदी सरकार 2.0 की मंत्रिपरिषद में एक भी सीट नहीं गई है, जबकि 2009 में सप्रंग-2 की सरकार के दौरान तमिलनाडु के हिस्से में नौ केंद्रीय मंत्री थे। हालांकि, राजग के सहयोगी दल अन्ना द्रमुक ने थेनी लोकसभा क्षेत्र में जीत हासिल की है, लेकिन बाकी 37 सीटों को डीएमके-कांग्रेस के गठबंधन ने जीता है। डीएमके प्रमुख एम.के. स्टालिन का कहना है प्रधानमंत्री मोदी ने तमिलनाडु से एक भी सांसद मंत्रिपरिषद में शामिल नहीं कर यह तमिलनाडु के लोगों का अपमान है। प्रधानमंत्री यहां के लोगों से नाराज हैं, क्योंकि लोगों ने भाजपा को एक भी सीट नहीं जीतने दी।

Show more
content-cover-image
मोदी सरकार 2.0 : दक्षिण राज्यों से क्यूँ नहीं है एक भी मंत्री ?मुख्य खबरें