content-cover-image

Twinkle Murder Case : 10,000 के लिए मासूम की हत्या, जानें पूरी घटना

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Twinkle Murder Case : 10,000 के लिए मासूम की हत्या, जानें पूरी घटना

यूपी के अलीगढ़ से इंसानियत को शर्मसार करने वाली एक ऐसी घटना इस समय पूरे देश में चर्चा का विषय बनी हुई है जो हर किसी को झकझोर रही है। क्या आम लोग और क्या नेता-अभिनेता... सभी एक स्वर में इस घटना की निंदा कर रहे हैं। मामला मात्र 10 हजार रुपए के कर्ज के लिए ढाई साल की मासूम टिंकल की हत्या का है। चंद रुपये के लिए मासूम को अगवा कर लिया गया और बाद में उसकी बेरहमी से हत्या कर दी गई। बच्ची का शव कुछ ऐसी हालत में मिला कि पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉक्टर भी समझ नहीं पाए कि पोस्टमॉर्टम करें तो कैसे। अलीगढ़ के थाना टप्पल इलाके में ढाई साल की बच्ची का शव मिलने से दो जून को सनसनी फैल गई। मामले का खुलासा हुआ तो पता चला कि यह शव टिंकल, पुत्री बनबारी लाल शर्मा का है। वह 30 मई को घर के बाहर से खेलती हुई लापता हो गई थी। 31 मई को टिंकल की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई। उसके बाद पुलिस को 2 जून की सुबह शव जेल गए आरोपी जाहिद के घर के पास मिला था। कूड़े के ढेर में उसका शव सफाई कर्मचारी को दिखाई दिया। जैसे ही बच्ची का शव सफाईकर्मी को दिखा उसने पुलिस के पास जाकर मामले की जानकारी दी। जिसके बाद एसएसपी आकाश कुलहरि और विधायक खैर अनूप प्रधान मौके पर पहुंचे। रविवार तड़के काननूगोयान से एक गली छोड़कर कोट मोहल्ले में महिला सफाईकर्मी ने कूड़े के ढेर से कपड़े के एक बंडल को कुत्तों को खींचते हुए देखा। इसी दौरान तमाम लोग वहां पहुंच गए। कपड़े की गठरी खोलकर देखी गई तो उसमें टिंकल का क्षत-विक्षत शव मिला। सूचना पर पहुंची टप्पल पुलिस ने शव को आनन-फानन पोस्टमार्टम के लिए भेजा। यह जानकारी होते ही लोग भड़क गए। परिजनों के साथ सैकड़ों की संख्या में लोगों ने पीछा कर शव लेकर जा रही गाड़ी को कुराना के पास रुकवा लिया। इसके बाद शव टप्पल थाने के सामने रख दिया और अलीगढ़-पलवल मार्ग पर जाम लगा दिया। बड़ी संख्या में मौजूद लोगों ने थाने का घेराव कर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की और टप्पल एसओ को निलंबित करने की मांग की। यह लोग आरोपी जाहिद और उसके पूरे परिवार को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे थे। ब्लाक प्रमुख के पति ऋषिपाल सिंह मैनेजर, डॉ. चंद्रप्रकाश पांचाल व कर्मवीर सिंह भाजपा नेता भी लोगों के साथ धरने पर बैठे रहे। आरोपियों के विषय में बच्ची के परिजनों ने आरोप लगाया कि जाहिद पर उनके दस हजार रुपये शेष थे। रुपये मांगने पर उससे विवाद हुआ था। उसी दिन जाहिद ने देख लेने व बेइज्जती का बदला लेने की धमकी दी थी। इसी बदले की भावना से उसने असलम संग मिलकर साजिश की. कूड़े के ढेर में जहां पर टिंकल का शव मिला था, वहीं डॉग स्क्वायड सबसे पहले पहुंचा। वहां से सूंघते हुए खोजी कुत्ता कोट मोहल्ला निवासी जाहिद पुत्र अब्बास के घर तक पहुंचा। इसके बाद पुलिस ने जाहिद को हिरासत में ले लिया। तीन डॉक्टरों के पैनल की राय पर गौर करें तो शव गलने से उसकी हत्या के साक्ष्य विलुप्त हो चुके हैं।

Show more
content-cover-image
Twinkle Murder Case : 10,000 के लिए मासूम की हत्या, जानें पूरी घटनामुख्य खबरें