content-cover-image

Special: डॉक्टर्स की हड़ताल- कितनी जायज़ कितनी नहीं?

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Special: डॉक्टर्स की हड़ताल- कितनी जायज़ कितनी नहीं?

पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों पर हुए हमले के विरोध में लगभग एक हफ्ते से न सिर्फ पश्चिम बंगाल में स्वास्थ्य सेवाएं चरमराई हुई हैं बल्कि देश भर में डॉक्टरों के विरोध प्रदर्शन भी जारी हैं। राजधानी दिल्ली में ही इस हड़ताल के चलते मरीज़ों को होने वाली परेशानी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता कि राजधानी के छः बड़े अस्पतालों में लगभग 40000 मरीज़ों को इलाज नहीं मिल सका और एक हज़ार से अधिक ऑपरेशन टाल दिए गए। हड़ताल के कारण उपचार नहीं मिलने से पश्चिम बंगाल में अबतक छ लोगों और एक नवजात शिशु की मौत हो चुकी है। देश के अन्य राज्यों में भी कमोबेश यही हालात है।तो आइये जानते हैं की ये हड़ताल है क्यों और डॉक्टर्स की मांगे क्या है तो ये आग भड़की एक 75 वर्षीय व्यक्ति जिनका नाम मोहम्मद सईद था उनकी मृत्यु से. \ मोहम्मद सईद (75) के परिवार, जिनकी मृत्यु ने NRS में हिंसा भड़काई, ने आरोप लगाया कि हालांकि उनके कुछ पड़ोसियों को घटना के बाद गिरफ्तार कर लिया गया था, लेकिन मेडिको के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है कथित तौर पर उनके साथ मारपीट की। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि इस घटना के लिए "सांप्रदायिक मोड़" जोड़ने की कोशिश की जा रही है।

Show more
content-cover-image
Special: डॉक्टर्स की हड़ताल- कितनी जायज़ कितनी नहीं?मुख्य खबरें