content-cover-image

हर मुसलमान को नहीं ठहरा सकते आतंकी : कोर्ट

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

हर मुसलमान को नहीं ठहरा सकते आतंकी : कोर्ट

महाराष्ट्र की अकोला कोर्ट ने कहा है कि किसी शख्स द्वारा ‘जिहाद’ शब्द का इस्तेमाल उसके आतंकवादी होने का आधार नहीं हो सकता. दरअसल कोर्ट ने यह बात उस मामले की सुनवाई के दौरान कही जिस मामले में पुलिसकर्मियों पर हमले के बाद तीन व्यक्तियों पर आतंक का मामला दर्ज किया गया था. बता दें कि घटना साल 2015 की है जब 25 सितंबर को बकरीद के दिन बीफ प्रतिबंध मामले में मस्जिद के बाहर पुलिसकर्मियों पर हमले के चलते 29 वर्षीय सलीम मलिक व शोएब खान और 24 साल के अब्दुल मलिक पर टैरर चार्ज लगाया गया था.

Show more
content-cover-image
हर मुसलमान को नहीं ठहरा सकते आतंकी : कोर्टमुख्य खबरें