content-cover-image

Special : कैसे हुयी International Yoga Day की शुरुआत, जानिए दिलचस्प बात

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Special : कैसे हुयी International Yoga Day की शुरुआत, जानिए दिलचस्प बात

21 जून को पूरी दुनिया में 'अंतरराष्ट्रीय योग दिवस' मनाया जाता है. 5 हजार सालों से योग भारतीय संस्कृति का अभिन्न हिस्सा रहा है. योग न केवल आपके शरीर को रोगों से दूर रखता है बल्कि आपके मन को भी शांत रखने का काम करता है. आइए अंतरराष्ट्रीय योग दिवस जुड़ कुछ रोचक जानकारियों से आपको रू-ब-रू कराते हैं. अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की शुरुआत हमारे माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल से हुई. 27 सितंबर 2014 को पीएम मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में एकसाथ योग करने की बात कही थी. इसके बाद महासभा ने 11 दिसंबर 2014 को इस प्रस्ताव को स्वीकार किया और तभी से अंतरराष्ट्रीय योग दिवस अस्तित्व में आया. क्या कभी आपने सोचा है कि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को ही क्यों मनाया जाता है. इसके पीछे भी एक बेहद खास वजह छिपी है. दरअसल 21 जून उत्तरी गोलार्द्ध का सबसे लंबा दिन होता है, जिसे कुछ लोग ग्रीष्म संक्रांति भी कहकर बुलाते हैं. भारतीय परंपरा के अनुसार ग्रीष्म संक्रांति के बाद सूर्य दक्षिणायन हो जाता है. कहा जाता है कि सूर्य के दक्षिणायन का समय आध्यात्मिक सिद्धियां प्राप्त करने में बहुत लाभकारी होता है इसी वजह से 21 जून को 'अंतरराष्ट्रीय योग दिवस' के रूप में मनाते हैं. 21 जून 2015 को पहला अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया. पहले योग दिवस पर भारत ने दो शानदार रिकॉर्ड भी बनाए थे. इस दिन पीएम मोदी ने 35 हजार से ज्यादा लोगों के साथ राजपथ पर योग किया था. पहला रिकॉर्ड 35,985 लोगों के साथ योग करना और दूसरा रिकॉर्ड 84 देशों के लोगों द्वारा इस समारोह में हिस्सा लेना.

Show more
content-cover-image
Special : कैसे हुयी International Yoga Day की शुरुआत, जानिए दिलचस्प बातमुख्य खबरें