content-cover-image

'भारत के सांस्कृतिक लोकाचार को भूल गए अमर्त्य सेन'

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

'भारत के सांस्कृतिक लोकाचार को भूल गए अमर्त्य सेन'

नोबेल पुरस्कार विजेता अमर्त्य सेन ने कहा है कि 'जय श्री राम' नारे का बंगाली संस्कृति से कोई ऐतिहासिक संबंध नहीं है. भाजपा ने सेन के इस कथ्य की आलोचना करते हुए शनिवार को कहा कि अर्थशास्त्री सेन भारतीय सांस्कृतिक लोकचार से कट गए हैं, क्योंकि वह ज्यादातर विदेशों में रहते हैं. भाजपा की राज्य इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, "सेन ज्यादातर विदेशों में रहते हैं और उन्हें वहां लगातार रहना चाहिए. भारत के लोगों के प्रति उनका कोई जुड़ाव या योगदान नहीं है. उनके भाषणों का कोई परवाह नहीं करता. जो उनपर निर्भर हैं, वे खत्म हो गए हैं."

Show more
content-cover-image
'भारत के सांस्कृतिक लोकाचार को भूल गए अमर्त्य सेन'मुख्य खबरें