content-cover-image

Special: नहीं रहीं दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Special: नहीं रहीं दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित

कांग्रेस की वरिष्ठ नेता शीला दीक्षित का शनिवार को निधन हो गया। वे 81 साल की थीं। सुबह तबीयत बिगड़ने पर उन्हें राजधानी के एस्कॉर्ट्स फोर्टिसहॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। अस्पताल केडायरेक्टर डॉ. अशोक सेठ ने बताया कि इलाज के दौरान दोपहर 3.15 बजे शीला दीक्षित को कॉर्डियक अरेस्ट हुआ। इसके बाद उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया। शीला दीक्षित 15 साल (1998 से 2013) तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं। फिलहाल, दिल्ली कांग्रेस की अध्यक्ष थीं। शीला दीक्षित का जन्म 31 मार्च 1938 को पंजाब के कपूरथला में हुआ था। 2014 में उन्हें केरल का राज्यपाल बनाया गया था। हालांकि, उन्होंने 25 अगस्त 2014 को इस्तीफा दे दिया था। वे इस साल उत्‍तर-पूर्व दिल्‍ली से लोकसभा चुनाव लड़ीथीं। हालांकि, उन्हें भाजपा के मनोज तिवारी के सामने हार मिली। शीला 1984 से 1989 तक कन्नौज लोकसभा सीट से सांसद रही थीं। 1986 से 1989 तक केंद्रीय मंत्री पद भी संभाला। शीला दीक्षित ने पहली बार 1984 में कन्नौज सीट से चुनाव लड़ा था। यहां उन्होंने सपा के छोटे सिंह यादव को हराया था। 1984 से 1989 तक सांसद रहने के दौरान वे यूनाइटेड नेशंस कमीशन ऑन स्टेटस ऑफ वीमेन में भारत की प्रतिनिधि रह चुकी हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी शीला दीक्षित के निधन पर गहरा दुख जताते हुए उनके साथ अपनी एक पुरानी तस्वीर को ट्वीट करते हुए लिखा, 'शीला दीक्षित जी के निधन से गहरा दुख हुआ है. ek मिलनसार व्यक्तित्व के साथ दिल्ली के विकास में उनका उल्लेखनीय योगदान हमेशा याद रहेगा। उनके समर्थकों और परिवजनों के प्रति मेरी संवेदनाएं।'

Show more
content-cover-image
Special: नहीं रहीं दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षितमुख्य खबरें