content-cover-image

Chandrayaan-2: लेकिन अब है कहां, क्‍या कर रहा है?

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Chandrayaan-2: लेकिन अब है कहां, क्‍या कर रहा है?

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने 22 जुलाई को भारत के मिशन चंद्रयान-2 को लॉन्‍च किया है. इस मिशन के तहत विक्रम नामक लैंडर और प्रज्ञान नामक रोवर चांद की सतह पर उतरेंगे और वहां विभिन्‍न शोध करेंगे. 22 जुलाई को 20 घंटे के काउंटडाउन के बाद इसरो ने जीएसएलवी एमके3 रॉकेट के जरिये चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण किया था. प्रक्षेपण के 16 मिनट 14 सेकंड के बाद इसे पृथ्‍वी की कक्षा पर स्‍थापित कर दिया गया था. पीएम मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल के दूसरे मन की बात कार्यक्रम में रविवार को चंद्रयान-2 मिशन का जिक्र किया. उन्‍होंने कहा मुझे सितंबर का बेसब्री से इंतजार है, जब लैंडर विक्रम और रोवर प्रज्ञान चांद पर उतरेंगे. लेकिन क्‍या आपको पता है कि चंद्रयान-2 इस वक्‍त कहां है? क्‍या कर रहा है? वो चांद पर कब जाएगा? नहीं, तो हम आपको बता रहे हैं सबकुछ... इसरो ने चंद्रयान-2 मिशन को 22 जुलाई को लॉन्‍च किया था. इसे इसरो के 'बाहुबली' रॉकेट कहे जाने वाले जीएसएलवी एमके3 से अंतरिक्ष में भेजा गया. लॉन्‍चिंग के 16 मिनट 14 सेकंड के बाद रॉकेट से यान अलग होकर पृथ्‍वी की कक्षा पर स्‍थापित हो गया था. लॉन्चिंग के बाद राकेट से अलग होकर चंद्रयान-2 पृथ्‍वी की कक्षा पर स्‍थापित हो गया है. चंद्रयान-2 इस वक्‍त पृथ्‍वी का चक्‍कर काट रहा है. दरअसल चंद्रयान-2 खुद को पृथ्‍वी का चक्‍कर काटते हुए चांद की कक्षा में प्रवेश करने की तैयारी कर रहा है. यह यान इस वक्‍त बेंगलुरु स्थित इसरो टेलीमेंट्री, ट्रैकिंग एंड कमांड नेटवर्क (आईएसटीआरएसी) के वैज्ञानिकों के नियंत्रण में है. वैज्ञानिक इस चंद्रयान-2 को पृथ्‍वी की कक्षा से चांद पर भेजने के लिए तैयार कर रहे हैं.

Show more
content-cover-image
Chandrayaan-2: लेकिन अब है कहां, क्‍या कर रहा है?मुख्य खबरें