content-cover-image

Jharkhand: 3 वर्षीय बच्ची से रेप-हत्या, अभी तक नहीं मिला सिर

मुख्य खबरें

00:00

ट्रेंडिंग रेडियो

Jharkhand: 3 वर्षीय बच्ची से रेप-हत्या, अभी तक नहीं मिला सिर

झारखंड (Jharkhand) के टाटानगर रेलवे स्टेशन (Tata Nagar Railway Station) से तीन साल की बच्ची (Three Year old Children) को अगवा (Kidnap) कर दुष्कर्म के बाद हत्या करने दोनों आरोपियों रिंकू साहू और कैलाश कुमार को बुधवार को चक्रधरपुर रेलवे दंडाधिकारी दिलीप राजेश्वर तिर्की की कोर्ट में पेश किया गया। मजिस्ट्रेट कोर्ट में दोनों आरोपियों ने स्वीकार किया कि उन्होंने बच्ची का स्टेशन से अपहरण करने के बाद उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया और बच्ची की गला काटकर हत्या कर दी। कोर्ट ने दोनों को घाघीडीह सेंट्रल जेल भेज दिया। दोनों ही आरोपियों का फैमिली बैकग्राउंड अच्छा है। रिंकू की मां गिरीडीह मुख्यालय में पुलिसकर्मी हैं जबकि कैलाश के पिता संतराम सीआरपीएफ के जवान हैं। इन दिनों पुलवामा में तैनात हैं। यह आश्चर्यजनक है कि रक्षकों के पुत्र ही भक्षक बन गये। 25 जुलाई को जमशेदपुर रेलवे स्टेशन से तीन वर्षीय बच्ची का अपहरण हुआ था। इसके बाद उसकी लाश 29 जुलाई को बरामद हुई थी। इसी मामले में टाटा जीआरपी ने दोनों को गिरफ्तार कर बुधवार को कोर्ट में पेश किया। बच्ची शव बरामद होने के 24 घंटे बाद भी बाद भी बच्ची का सिर नहीं मिला है। बच्ची का सिर खोजने में आरपीएफ का खोजी कुत्ता भी फेल हो गया। बुधवार सुबह पुलिस रिंकू को एक बार फिर उक्त झाड़ी के पास ले गई थी, जहां से बच्ची का सिर कटा शव मिला था। रिंकू ने रेल पुलिस को बताया कि बच्ची बिस्तर से गिरकर रोने लगी। शांत नहीं होने पर उसने उसका गला काट दिया और झोला में शव को रखकर झाड़ी में फेंक दिया।25 जुलाई को टाटानगर स्टेशन से जिस तीन वर्षीय बच्ची का अपहरण हुआ था उसकी लाश बरामद हुई थी। बच्ची की मां रकीमा खातून के बयान पर अपहरण, दुष्कर्म एवं हत्या समेत पोक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है।

Show more
content-cover-image
Jharkhand: 3 वर्षीय बच्ची से रेप-हत्या, अभी तक नहीं मिला सिरमुख्य खबरें